आंकड़े : अय्यर और पंत में जाने किसकी कप्तानी है असरदार

 आई पी एल 2021 की शुरुआत से ही दिल्ली कैपिटल्स की कप्तानी को लेकर काफी चर्चा होती रही है और अफवाहों का बाजार भी अपने उफान पर रहा है। आई पी एल के पहले श्रेयस अय्यर के चोटिल हो जाने के बाद से ही सभी क्रिकेट पंडित आईपीएल में दिल्ली की कप्तानी को लेकर कयास लगा रहे थे।

उनमें से कुछ की भविष्यवाणी सही भी हुई और ऋषभ पंत को आई पी एल 2021 के लिए कप्तानी का जिम्मा सौंपा गया। हालांकि बीच में ही आईपीएल 2000 21 को स्थगित करना पड़ा और अब खबर यह है कि सितंबर से लेकर अक्टूबर के बीच आईपीएल के बचे हुए मैचों का आयोजन यूनाइटेड अरब अमीरात में होना है।

ठीक पहले की ही तरह इस बार भी दिल्ली कैपिटल्स की कप्तानी को लेकर अफवाहों का बाजार फिर से गर्म होता हुआ दिखाई दे रहा है। खबर यह है कि श्रेयस अय्यर अपनी चोट से उबर चुके हैं और वह आने वाले मैचों में दिल्ली की तरफ से खेलते हुए भी दिखाई पड़ेंगे।

अब अगर श्रेयस अय्यर दिल्ली की तरफ से खेल रहे हैं तो क्या वह सिर्फ खिलाड़ी कहीं हैसियत से ही टीम में रहेंगे या कप्तानी भी करेंगे? इसी बात को लेकर क्रिकेट प्रशंसक और क्रिकेट जानकार अपनी-अपनी भविष्यवाणियां कर रहे हैं।

कुछ का कहना है कि बचे हुए आईपीएल के लिए कप्तानी ऋषभ पंत सही करवानी चाहिए जबकि और उनका कहना है श्रेयस अय्यर को बतौर कप्तान टीम में वापसी करवानी चाहिए।

हालांकि हम इस पचड़े में ना पढ़ते हुए इन दोनों के कप्तानी रिकॉर्ड के बारे में थोड़ी जानकारी हासिल करने की कोशिश करते हैं। 

आपको बता दें कि श्रेयस अय्यर ने दिल्ली की तरफ से खेलते हुए कुल 41 मैचों में कप्तानी की है। इसमें से 23 मैच मैं वह सफल रहे हैं जबकि 18 मैचों में दिल्ली कैपिटल्स को हार का सामना करना पड़ा है। अगर जीत प्रतिशत के लिहाज से देखें तो श्रेयस अय्यर ने आईपीएल में 56.1% मैचों में जीत हासिल की है।

वहीं अगर दूसरी तरफ ऋषभ पंत की कप्तानी का रिकॉर्ड देते तो हालांकि उनका सैंपल काफी छोटा है। पंत ने आईपीएल के कुल 8 मैचों में ही कप्तानी की है जिसमें से छह मैच उनकी झोली में रहे जबकि महज दो ही मैचों में हार का सामना करना पड़ा है। जीत प्रतिशत के लिहाज से ऋषभ पंत काफी आगे दिखाई पड़ते हैं। पंत ने कुल 75% मैचों में जीत हासिल किया है।

आईपीएल से जुड़ी ऐसी और भी शानदार जानकारी सबसे पहले पाते रहने के लिए हमें फेसबुक पर जरूर फॉलो करें।

Leave a Reply