सौरभ तिवारी का जीवन परिचय | Saurabh Tiwary Biography in Hindi

Saurabh Tiwary Biography in Hindi : सौरभ तिवारी भारत एक भारतीय क्रिकेटर हैं। आज हम इस आर्टिकल में सौरभ तिवारी का जीवन परिचय, उनसे जुड़े सभी महत्वपूर्ण तथ्य और उनके क्रिकेटिंग करियर को जानने का प्रयास करेंगे।

saurabh tiwary biography in hindi

सौरभ तिवारी का जीवन परिचय (Saurabh Tiwary Jivan Parichay)

नाम  सौरभ तिवारी 
पिता सुनील तिवारी
जन्म 30 दिसंबर 1989
जन्म स्थान जमशेदपुर, झारखंड
पत्नी निकिता मिश्रा
मुख्य भूमिका बल्लेबाजी
बल्लेबाजी बाएं हाथ से
आईपीएल टीम मुंबई इंडियंस
जर्सी नंबर 15
रणजी टीम झारखंड

सौरभ तिवारी का जीवन परिचय : घरेलू क्रिकेट में सौरभ तिवारी झारखंड की टीम से खेलते हैं। साल 2008 में मलेशिया में खेली गई अन्डर-19 विश्व कप की टीम ये खिलाड़ी अहम हिस्सा था। भारत ने साल 2008 के अन्डर-19 विश्वकप पर कब्जा भी जमाया था। इस टूर्नामेंट में सौरभ तिवारी के बल्ले से कुल 114 रन निकले थे।

सौरभ तिवारी का अंतर्राष्ट्रीय करियर

सौरभ तिवारी के अंतर्राष्ट्रीय करियर की बार करें तो इस खिलाड़ी ने साल 2010 में ही अपना पहला एकदिवसीय मैच खेल लिया था। अपने डेब्यू मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बल्लेबाजी करते हुए सौरभ तिवारी ने 17 गेंदों पर नाबाद 12 रन बनाकर अपनी टीम को जीत तक पहुंचाया था।

इसके बाद वनडे क्रिकेट में सौरभ तिवारी को सिर्फ 2 ही मैच को खेलने को मिले। अपने एकदिवसीय करियर में खेले गए कुल 3 मैचों में इस खिलाड़ी ने 49 रन बनाए हैं। एक समय इस खिलाड़ी को भारतीय टीम का दूसरा महेंद्र सिंह धोनी माना जाता था।

सौरभ तिवारी का आईपीएल करियर (Saurabh Tiwary IPL Biography in Hindi)

आईपीएल में सौरभ तिवारी के प्रदर्शन की बात करें तो सबसे पहले इस खिलाड़ी को आईपीएल में मुंबई इंडियंस की टीम ने ही मौका दिया था। साल 2010 के आईपीएल में मुंबई इंडियंस की तरफ से खेलते हुए सौरभ तिवारी ने 16 मैचों में 419 बनाए थे। जिस वजह से मुंबई इंडियंस को फाइनल तक पहुँचने में आसानी हूई थी।

इसके बाद साल 2011 के आईपीएल की नीलामी में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम ने इस खिलाड़ी को खरीद लिया लेकिन वहाँ पर सौरभ तिवारी का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा। अगले 2 साल तक सौरभ आरसीबी के लिए ही खेलते रहे लेकिन अच्छे प्रदर्शन न कर पाने की वजह से आरसीबी ने 2014 कि नीलामी में सौरभ को छोड़ दिया।

2014 में दिल्ली डेयरडेविल्स में हुए शामिल

साल 2014 और 2015 में दिल्ली की टीम में रहे। इस दौरान उन्हें सिर्फ 7 मैच खेलने का मौका मिला। जिसमें वो कुछ खास कमाल नहीं कर पाए। इसके बाद वो साल 2016 के लिए राइज़ींग पुणे सुपरजाइंट्स की टीम से भी खेले। जहां 10 मैचों में बल्लेबाजी करते हुए कुल 170 रन बनाए थे।

2017 में मुंबई ने इंडियंस ने सौरभ तिवारी को खरीदा

आईपीएल 2017 की नीलामी से ठीक पहले एक बार फिर से मुंबई इंडियंस की टीम ने इस खिलाड़ी को अपनी टीम में मौका दिया। हालांकि इस साल सौरभ को सिर्फ एक मैच खेलने का अवसर मिला जिसमें उन्होंने 52 रन बनाए थे। इसके बाद आईपीएल 2020 में उन्होंने कुल 7 मैचों में बल्लेबाजी की और 130 रन बनाए।

कुल मिलाकर देखें तो सौरभ तिवारी का करियर काफी उतार चढ़ाव भरा रहा है। लेकिन इस खिलाड़ी ने झारखंड के छोटे से शहर से निकलकर हमेशा जीवन में आगे बढ़ने की ठानी है। कभी इसने पीछे मुड़कर नहीं देखा और शायद यही वजह है कि दे से ही सही लेकिन क्रिकेट में इसे सफलता मिलती जा रही है।

Leave a Reply