Asia Cup History : जाने कब और कैसे शुरू हुआ एशिया कप, भारत ने कितनी बार जीती है ये ट्रॉफी

  • Post category:Asia Cup / News

Asia cup 2022: टीम इंडिया के लिए यह टूर्नामेंट काफी अहम है। क्युकी भारत इस टूर्नामेंट का मौजूदा चैंपियन है और उसे अपने टाइटल को बचाने के लिए दमदार प्रदर्शन करना पड़ेगा।साथ ही टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 वर्ल्डकप के पहले अपनी ताकत समझने का मौका भी मिलेगा। 

एशिया कप का इतिहास (Asia Cup History in Hindi)

इसकी शुरुवात एक खास मकसद के साथ की गई थी। एशियाई देशों के बीच सद्भाव बनाए रखने के लिया 1983 में एशियाई क्रिकेट परिषद (ACC) का गठन किया गया था। यही से इस टूर्नामेंट को भी आयोजित करने का फैसला किया। साल 1984 में पहली बार इस टूर्नामेंट का आयोजन यूएई (UAE) में किया गया।

एशिया कप में भारत का प्रदर्शन

अब तक कुल मिलाकर एशिया कप के 14 संस्करण हुए हैं, जिसमें से भारत ने सबसे ज्यादा 7 (1984, 1988, 1990-91, 1995, 2010, 2016 और 2018) बार खिताब अपने नाम किया है। भारत इकलौती ऐसी टीम है जोकि एशिया कप को दो अलग फॉर्मेट में जीती है। टीम ने 50 और 20 ओवर दोनों फॉर्मेट में एशिया कप को जीता है।

एशिया कप वनडे और टी20 फॉर्मेट में खेला जाता है और इसमें भारत, पाकिस्‍तान, बांग्‍लादेश, श्रीलंका, अफगानिस्‍तान, यूएई समेत एशियाई देशों की टीमें हिस्‍सा लेती हैं। पहली बार टी 20 फॉर्मेट में 2016 में एशिया कप हुआ था तब भी महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारतीय टीम ने बांग्लादेश को हराकर खिताब जीता था।

जब भारत को करना पड़ा था 15 वर्षो का इंतजार

साल 1985 में खिताब जीतने के बाद भारत को अगले खिताब के लिए 15 वर्षो का इंतजार करना पड़ा था। इन 15 वर्षो के बीच में  भारत 3 बार श्रीलंका के हाथो फाइनल मुकाबले में हार मिली थी। लगातार 3 बार खिताब से चुकने के बाद भारत 2010 में श्रीलंका को 81 रनो से हराकर रिकार्ड पांचवी बार खिताब अपने नाम किया। लेकिन, इसके बाद वह 2012 और 2014 में फाइनल में पहुंचने में नाकाम रहा। 2016 में पहली बार टी-20 प्रारूप में शुरू किए इस टूर्नामेंट में भारत ने मेजबान बांग्लादेश को मात देकर खिताब अपने नाम किया। 

एशिया कप के विजेता (1984-2018)

  •   साल               विजेता        उपविजेता
  •  1984                  भारत               श्रीलंका
  •  1986                श्रीलंका              पाकिस्तान
  •  1988                  भारत               श्रीलंका
  •  1990                  भारत               श्रीलंका
  •  1995                  भारत               श्रीलंका
  •  1997                श्रीलंका               भारत
  •  2000               पाकिस्तान           श्रीलंका
  •  2004                श्रीलंका               भारत
  •  2008                श्रीलंका               भारत
  •  2010                 भारत               श्रीलंका
  •  2012              पाकिस्तान           बांग्लादेश
  •  2014               श्रीलंका             पाकिस्तान
  •  2016                भारत               बांग्लादेश
  •  2018                भारत               बांग्लादेश

Leave a Reply