करुण नायर का जीवन परिचय | Karun Nair Biography in Hindi

Karun Nair Biography in Hindi : महाराजा ट्रॉफी की शुरुवात हो चुकी है मैसूर वॉरियर्स के कप्तान करुण नायर ने एक शानदार नाबाद पारी खेली है। इन्होंने शतक और तिहरा शतक भी लगाया है।लेकिन फिर भी उन्हें टीम इंडिया के लिए खेलने का मौका नही मिला।

Karun Nair biography in Hindi

करुण नायर का जीवन परिचय (Karun Nair Biography in Hindi)

Karun Nair Biography in Hindi : करुण नायर का जन्म 6 दिसंबर 1996 में राजस्थान के जोधपुर में हुआ था। करुण नायर के पिता कलाधारण नायर एक मैकेनिकल इंजीनियर हैं और उनकी माता प्रेमा नायर एक टीचर हैं। करुण नायर के जन्म के बाद उनके पिता कलाधर नायर बेंगलुरु आ गए थे। करुण नायर की प्रारंभिक शिक्षा बेंगलुरु में हुई। करुण नायर की एक बड़ी बहन भी है जिसका नाम श्रुति नायर है जो कि अब कनाडा में रहती है।

Karun Nair Biography in Hindi

करुण नायर के मां का कहना है कि करुण नायर को बचपन से ही क्रिकेट खेलने का बहुत शौक था और वह गली क्रिकेट बहुत खेलता था। करुण नायर के अंदर 10 साल से क्रिकेट खेलने का जुनून था और उनके परिवार वालों ने उन्हें क्रिकेट खेलने के लिए प्रोत्साहित भी किया।

Karun Nair Biography in Hindi
नाम करुण कलाधरण नायर
जन्म 6 दिसंबर 1991
स्थान जोधपुर, राजस्थान
पिता कलाधारण नायर
माता प्रेमा नायर
बहन श्रुति नायर
प्रोफेशन  क्रिकेटर (India)
राष्ट्रीय पक्ष भारत
आईपीएल टीम राजस्थान रॉयल्स
शादी शनाया नायर

करुण नायर का घरेलू क्रिकेट करियर (Karun Nair Biography in Hindi)

बात करें अगर करुण नायर के घरेलू क्रिकेट करियर के बारे में शुरुआत में करूं यार कुछ खास नहीं कर पा रहे थे लेकिन उनके खेल में सुधार आता गया। करुण नायर ने 5 साल तक घरेलू क्रिकेट खेला और कर्नाटक की लड़की टीम ने इनके अच्छे प्रदर्शन को देखते हुए इन्हें अपने टीम में ले लिया। करुण नायर 2014-15 में अपना पहला रणजी मैच खेला और उसमें सम्मानित भी किए गए।

वीरेंद्र सहवाग के बाद करुण नायर भारतीय क्रिकेट इतिहास के कर्नाटक के ऐसे दूसरे बल्लेबाज हैं जिन्होंने  लिए तिहरा शतक बनाया। और रणजी ट्रॉफी के इतिहास में आखिरी मैच में यह से पहले बल्लेबाज हैं जिन्होंने पहरा शतक लगाया है।

करुण नायर का अंतरराष्ट्रीय करियर (Karun Nair International Career in Hindi)

करुण नायर ने अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर का डेब्यू जिंबाब्वे के खिलाफ 11 जून 2016 को एकदिवसीय मैच में किया था। इसके बाद करुण नायर ने इंग्लैंड के खिलाफ मोहाली में टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया था जहां उन्होंने शानदार पारी खेलते हुए अपने करियर का पहला शतक लगाया था और उसे एक तेहरे शतक में बदल दिया था। करुण नायर ने उस मैच में 303 रन की पारी खेली थी। इन्होंने एक विश्व रिकॉर्ड भी बनाया सबसे तेज दोहरा शतक पूरा करने वाले पहले बल्लेबाज बन गए।

नहर के नाबाद 303 रन की पारी के बदौलत भारत पांचवें मैच के चौथे दिन 7 विकेट पर 759 रन बनाया था। जो कि भारत का टेस्ट क्रिकेट में सर्वोत्तम स्कोर रहा है।

करुण नायर का आईपीएल करियर (Karun Nair IPL Career)

करुण नायर को आईपीएल 2013 में चैलेंजर्स बेंगलुरु के तरफ से खेलने का मौका मिला। इस आईपीएल में वह कुछ खास नहीं कर पाए लेकिन उन्हें बहुत कुछ सीखने का मौका मिला। 2014 में करुण नायर को राजस्थान रॉयल्स आईपीएल फ्रेंचाइजी ने उन्हें खरीदा। करुण नायर राजस्थान रॉयल्स के लिए 2 साल तक खेले। साल 2016 में करुण नायर को दिल्ली डेयरडेविल्स ने 4 करोड़ की भारी-भरकम रकम से खरीदा जबकि उनकी बेस्ट प्राइस केवल 10 लाख थी।

Leave a Reply