कुमार कार्तिकेय की बायोग्राफी(kumar kartikeya biography in hindi) : फैक्ट्री में मजदूरी से ipl तक का सफर

  • Post category:Biography

कुमार कार्तिकेय की बायोग्राफी: kumar kartikeya biography in hindi

कुमार कार्तिकेय (kumar kartikeya)के लिए आईपीएल 2022 में मुंबई इंडियंस में शामिल होने का सफर काफी कठिन रहा। कुमार कार्तिकेय(kumar kartikeya) 15 साल के थे जब उन्होंने अपना घर छोड़ा था।

कुमार कार्तिकेय के क्रिकेट का सफर

क्रिकेटर कुमार कार्तिकेय आईपीएल में मुंबई की तरफ से खेलते हैं 9 साल बाद जब वह अपने मां के साथ फोटो शेयर की तब उन्होंने बताया कि वह 9 साल बाद अपने परिवार से मिले हैं।

कार्तिकेय को ₹20 लाख में आईपीएल (ipl) फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियंस (mumbai indians) ने खरीदा था। मोहम्मद अशरफ खान के चोटिल होने के बाद उन्हें टीम में शामिल किया गया था। आई पी एल 2022 (ipl 2022)में अपने पहले ही ओवर में संजू सैमसंग (Sanju Samson)को आउट करके वह चर्चा में आए थे।

IPL 2022

कुमार कार्तिकेय(kumar kartikeya) ने फोटो शेयर करते हुए बताया कि वह 9 साल 3 महीने बाद अपने परिवार से मिले हैं। कुमार कार्तिकेय(kumar kartikeya) को आई पी एल 2022(ipl 2022) में 4 मैच खेलने को मिला जिसमें उन्होंने 5 विकेट लिए कुमार कार्तिकेय के नाम प्रथम श्रेणी में 12 मैचों में 55 विकेट वही 19 लिस्ट 1 मैचों में 18 और 12 t20 मैचों में 14 विकेट हासिल किए हैं।

जब कार्तिकेय ने छोड़ा अपना घर

9 साल पहले जब कुमार कार्तिकेय (kumar kartikeya) ने कानपुर छोड़कर दिल्ली जाने का फैसला किया था तब उन्होंने अपने घरवालों से वादा किया था, कि वह अपने क्रिकेट के लिए घर वालों पर कोई आर्थिक बोझ नहीं डालेंगे। कार्तिकेय को दिल्ली में उनके दोस्त राधेश्याम के अलावा कोई नहीं जानता था राधेश्याम और कार्तिकेय कई क्रिकेट एकेडमी में गए लेकिन सब जगह ज्यादा पैसे लग रहे थे। तब दोनों क्रिकेट कोच संजय भारद्वाज(Sanjay Bhardwaj) के पास गए वहां राधेश्याम ने कहा कि कार्तिकेय के पास उन्हें देने के लिए पैसे नहीं है इसके बावजूद भारद्वाज ने दोनों की मदद की उन्होंने कार्तिकेय को ट्रायल देने को कहा। नेट पर एक गेंद देखने के बाद भारद्वाज ने उनका चयन कर दिया।

क्रिकेट की कोचिंग मिल जाने के बाद कुमार कार्तिकेय(kumar kartikeya) को रहने और खाने का प्रबंधन करना था। इसके लिए वह गाजियाबाद के पास मसूरी गांव में मजदूरी करने लगा। वह रात में फैक्ट्री में काम करते थे, और दिन में एकेडमी जाते थे।

DDCA ने किया नजरंदाज

इसके बाद  भरद्वाज ने कार्तिकेय का एक स्कूल में दाखिला करा दिया कार्तिकेय स्कूल की तरफ से खेलने लगे और डीडीसीए लीग (DDCA LEAGUE) में 45 विकेट लिए इतने बेहतरीन प्रदर्शन के बावजूद कार्तिकेय का सिलेक्शन डीडीसीए के टॉप 200 में नहीं किया गया था।

गौतम गंभीर(Gautam Gambhir) के बचपन के कोच के रूप में प्रसिद्ध भारद्वाज ने अमित मिश्रा(Amit mishra) के साथ ऐसा होता हुआ देखा था। तब उन्होंने उन्हें हरियाणा जाने को कहा था। कार्तिकेय को भी उन्होंने मध्यप्रदेश भेज दिया राज्य के ट्रायल मैचों में कार्तिकेय ने हर मुकाबले में पांच पांच विकेट लिए। जल्द ही उन्हें रणजी ट्रॉफी खेलना शुरू किया कार्तिकेय ने 2018 में डेब्यू किया इसके 4 साल बाद कार्तिकेय को आईपीएल (indian primer league)में खेलने का मौका मिला।

दोस्तों आपको यह खबर कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं आपके कमेंट से हमें मोटिवेशन मिलता है जिससे हम आपके लिए और भी अच्छी अच्छी खबरें लाते रहे

Leave a Reply