RCB ने मेगा ऑक्शन के दौरान कर दी 3 सबसे बड़ी गलती जिसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है आगे

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) हर बार की तरह एक बार फिर बड़े जोरो शोरो से आती हुई दिख रही है। इस बार फिर सभी बेहतरीन प्लेयर्स को खरीद कर हर बार की तरह आईपीएल की सबसे मजबूत दिखाई दे रही है हमेशा की तरह इस बार फिर इनका जोश देख के लग रहा है की फिर से यह आईपीएल में धूम मचाएगी।

 

लेकिन कही न कही ये चूक जाति क्यूंकि टूर्नामेंट में RCB हमेशा ही चूक जाती है अपना बेहतरीन प्रदर्शन देने में। RCB ने अपने 22 एक से बढ़ कर दिग्गज प्लायर्स वाली टीम में टीम इंडिया के हर्षल पटेल और श्रीलंका के वानिन्दु हसारंगा को भी शामिल किया है। लेकिन इतना तैयारी के बाद भी RCB ने मेगा ऑक्शन यानी प्लेयर्स की खरीद डरी के दौरान कर दी तीन सबसे बढ़ी गलती।

RCB ने कर दी 3 सबसे बढ़ी गलती

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) हमेशा से सबसे लोक प्रिय टीमों में से एक रही है चाहे भले ही आईपीएल में एक भी खिताब अपने नाम न पाई हो लेकिन दर्शकों के बीच अपनी जगह बनाए हुए है। लेकिन इस बार फिर लगता है की RCB ने 3 बढ़ी गलतियां कर दी है मेगा ऑक्शन के दौरान जिसका बुरा असर देखने को मिल सकता है RCB और दर्शकों को

RCB

RCB में स्पिनर्स की कमी

कोरोना महामारी को देख कर यह अनुमान लगाया था की टूर्नामेंट भारत के बाहर आयोजित किया जाएगा लेकिन अब टूर्नामेंट भारती में ही आयोजित किया जाएगा और RCB ने सभी दिग्गज प्लेयर्स को तो बोली लगा के खरीद लिया। लेकिन खरीदारी करते समय एक भी स्पिनर की बोली नही लगाई और भारतीय पीच पर स्पिनर्स की क्या अहमियत होती है ये तो आप भली भाती जानते है हो सकता इसका खामियाजा RCB को भुगतना पड़े।

RCB के प्लेइंग इलेवन में बदलाव

RCB के प्लेइंग इलेवन में हमेशा बदलाव होता रहता है जिसकी वजह से प्लेयर को बहुत सारी परेसानियो का सामना करना पड़ता है जिसके कारण कई प्लेयर्स का मनोबल टूट जाता है और इस बार भी RCB अपने प्लेइंग इलेवन में बदलाव कर सकती है इस बार तो ऑक्शन में RCB मे कई धाकड़ बल्लेबाज आए हैं जिनमें एक साउथ अफ्रीका के दिग्गज फाफ डु प्लेसिस को अपने साथ जोड़ा है। तो इस बार ओपनिंग जोड़ी में बदलाव देखने को मिलेगा तो फाफ डु प्लेसिस के साथ विराट कोहली को ओपनिंग करना पड़ सकता है । लेकिन अगर विराट कोहली अपने ही क्रम में बल्लेबाजी करते हैं तो फिर फाफ के साथ दिनेश कार्तिक या ग्लेन मैक्सवेल को ओपनिंग के लिए उतारा जा सकता है।

डेथ गेंदबाजी में समस्या

वैसे देखा जाए तो डेथ ओवर में बहुत दिग्गज गेदबाज की जरूरत होती है। लेकिन इस बार ऑक्शन में RCB ने की गलती यह उसका प्रभाव देखने को मिल सकता है लेकिन डेथ ओवर में ही बल्लेबाज कूटते नजर आते है। ऐसे में RCB के पास कोई कुशल गेदबाज नही है। केवल हर्षल पटेल ही ऐसे गेदबाज है जो डेथ ओवर में गेंदबाजी कर सकते हैं। लेकिन अगर इन्हें हटा दिया जाए तो मोहम्मद सिराज और जोश हेजलवुड बचाते डेथ ओवर में गेंदबाजी कर सकते हैं। लेकीन ये भी कामयाब साबित नही है डेथ ओवर में । अगर RCB अच्छी गेंदबाजी नही कर पता है तो फाइनल्स में पहुंचने में मुश्किलें आ सकती है इस बार भी।

Leave a Reply